एक भक्त अपनी वास्तविक अवस्था के प्रति हमेशा सचेत रहता है.